Hybridisation Kya Hota Hai? Kitane Prakar Ka Hota Hai?

Hybridisation [संकरण]

जब दो या दो से अधिक  समान प्रकार के अथवा लगभग समान energy के orbital mixed होकर समान energy के उतने ही orbital बनाते है तो इस प्रतिक्रिया को संकरण कहते है तथा इस प्रकार बने orbitals को hybrid orbital कहते है |
Example-Carbon का एक 2s-orbital तथा तीन 2p-orbital संकरित होकर four नये sp3-hybrid orbital बनाते है |

Types of Hybridisation

संकरण कई प्रकार के होते है |

1-Sp-Hybridisation

इस प्रकार के hybridisation मे एक s-subshell तथा एक p-subshell का orbital संकरित होकर दो समान energy व  अकृती के नये sp-hybrid orbitals का निर्माण करते है |प्रत्येक sp संकरित orbital मे 50% s-लछड़ तथा 50% p- लछड़ होता है |
example-Becl2,C2H2 etc.

2-sp2 Hybridisation

इस प्रकार के संकरण मे s-subshell तथा दो p-subshell के orbital संकरित होकर समान उर्जा व आकृती के तीन sp2-hybrid orbital बनाते है |
ये तीनो sp2 orbital त्रिकोनिय समतली arange मे 120 degree के angle पर arange होते है | प्रत्येक  sp2-orbital मे 33.3% s-लछण तथा 66.7% p- लछण होता है | इसे trigonal hybridisation भि कहा जाता है |
examples-BCl3,C2H4 etc.

3-sp3 Hybridisation

इस प्रकार के संकरण मे एक s-subshell तथा तीन p-subshell के orbital संकरित होकर समान उर्जा व आकृती के Four sp3-hybrid orbital बनाते है | प्रत्येक sp3-orbital मे 25% s लछण तथा 75% p लछण होता है | sp3 संकरित orbital चतुस्फलक के चार कोनो की ओर निर्देशित होते है तथा इनके बिच 109.5 degree का angle होता है |
example-CH4,

4-sp3d-Hybridisation

इस प्रकार के संकरण मे एक s-subshell, तीन p-subshell तथा एक d-subshell के orbital संकरित होकर समान उर्जा व आकृती के Five sp3d-hybrid orbital बनाते है | ये एक तल मे होते है और परस्पर 120 degree का angle बनाते है |
example-PCl5 etc.

5-sp3d2 Hybridisation

इस प्रकार के संकरण मे एक s-subshell, तीन p-subshell तथा दो  d-subshell के orbital संकरित होकर समान उर्जा व आकृती के Six sp3d2-hybrid orbital बनाते है | जो समअस्तफलक के 6 कोनो को निर्दिस्ट करते है | इनमे  किन्ही दो hybrid orbital के मध्य 90 degree का angle होता है |
example-SF6 etc.

6-sp3d3 Hybridisation

इस प्रकार के संकरण मे एक s-subshell, तीन p-subshell तथा तीन d-subshell के orbital संकरित होकर समान उर्जा व आकृती के seven sp3d3-hybrid orbital बनाते है | जो एक pentagonal bipyramidal arange होते है | प्रत्येक orbital के मध्य 72% के angle होता है |
example-IF7(iodin heptafloride)

7-dsp2-Hybridisation

इस प्रकार के संकरण मे एक d-subshell, एक  s-subshell तथा दो p-subshell के orbital संकरित होकर समान उर्जा व आकृती के Four dsp2-hybrid orbital बनाते है | hybridisation complex compounds मे पाया जाता है |
examples-[Ni (CN)4]2- etc.

यहाँ हमने hybridisation के बारे मे jankari share की i hope आपको मेरी ये लेख पसंद ऐ होगी |

Share this

Related Posts

Previous
Next Post »

It's 7081137031 My Whatsapp Number.you can share your problem with me. EmoticonEmoticon